NEFT किया है और ये कैसे काम करता है ?


NEFT किया है और ये कैसे काम करता है


NEFT किया है और ये कैसे काम करता है ? NEFT द्वारा पैसे ट्रांसफर कैसे करे ?

दोस्तों तो पहले हम जानते है की NEFT किया है और ये कैसे काम करता है ? तो दोस्तों आप में से जो लोग भी ऑनलाइन ट्रांसक्शन करते हैं उन्हें पता ही होगा की NEFT किया है वैसे NEFT एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा आप एक BANK ACCOUNT से किसी भी दूसरे BANK ACCOUNT में ONLINE यानि के कम्प्यूटर के माध्यम से आसानी से और सुरक्षित तरीके से अपना पैसा भेज सकते है 

online banking आने के बाद banking  transction बहुत ही आसान हो गया है और लोगों का बैंक में जाना तो जैसे ख़त्म ही हो गया है अगर आपके पास ऑनलाइन बैंकिंग की सुविधा है तो आप घर बैठे ही अपने सारे ट्रांसक्शन कर सकते है जैसे की Balance Inquiry, Transction History , पैसे ट्रांसफर जैसे बहुत सारे कार्य कर सकते है  

online fund transfer करने के मुख्य चार उपाय है जैसे की NEFT, RTGS, IMPS और UPI. तो चलिए आज हम इन चारों में से NEFT के बारे मैं बात करते है तो NEFT एक ऐसा माध्यम है की जिसके द्वारा आप अपने ACCOUNT से किसी भी NEFT इनेबल बैंक अकाउंट मै आसानी से और सुरक्षित तरीके से पैसे भेज सकते है या प्राप्त कर सकते है  तो चलिए जानते है की NEFT किया है, और ये कैसे काम करता है और इसके फायदे किया है  

NEFT किया है ? (What is NEFT)

NEFT का पूरा नाम National Electronics Fund Transfer इसे हिंदी मैं  “राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण ”  भी कहा जाता है. यह एक देशव्यापी Electronic Fund Transfer System है. जिसके द्वारा एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट मैं पैसे भेजे व प्राप्त किया जाता है. इस फंड ट्रांसफर की प्रणाली की शुरुवात सन 2005 से हुई है. आरबीआई(RBI ) के द्वारा इस फंड ट्रांसफर प्रणाली का संचालन किया जाता है. इस प्रणाली का उपयोग करके पूरे भारत वर्ष के किसी भी NEFT Enabled बैंक मैं आप पैसे ट्रांसफर कर सकते है. इस प्रणाली द्वारा ट्रांसक्शन करने के लिए आपके पास beneficiary यानि खाता धारक का नाम, खाता धारक के बैंक ब्रांच का  IFSC कोड और Benificiary का अकाउंट नंबर होना आवश्यक है.

ये भी ज़रूर पढ़े

 

 

NEFT प्रणाली काम कैसे करता है ?

NEFT Settelment को Batch Wise Formate मै संचालित किया जाता है, जिसका टाइमिंग कुछ इस प्रकार है, NEFT सोमवार से लेकर शनिवार तक सुबह 8 बजे से लेकर शाम के 7:30  बजे के दौरान 23 सेटलमेंट किया जाता है यानि हर आधे घंटे मैं एक सेटेलमेंट होता है इसके अलावा हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार और सार्वजनिक छुट्टियों के दिन कोई भी NEFT  सेटलमेंट नहीं किया जाता है 

NEFT सुविधा का उपयोग आप मुख्य रूप से दो प्रकार से कर सकते है. एक Offline  Mode है जिसका उपयोग आप अपने ब्रांच मैं जाकर मैन्युअल फॉर्म और चेक द्वारा अपने ब्रांच से कर सकते है, और दूसरा तरीका ये है की यदि आपके पास online banking की सेवा है तो आप कहीं से भी NEFT द्वारा पैसे ट्रांसफर कर सकते है जिसके लिए आपको ब्रांच तक जाने की जरुरत नहीं रहती और आपका टाइम बच जाता है, वैसे NEFT ऑनलाइन ट्रांसक्शन करने के लिए इस्तेमाल होने वाली सबसे पहली प्रक्रिया है और ये बहुत प्रचलित भी है, ऐसे देखा जाये तो NEFT दूसरे मनी ट्रांसफर की प्रणाली जैसे RTGS, IMPS और UPI से थोड़ा भिन्न है, जहां RTGS ,IMPS  और UPI द्वारा किया गया ट्रांसक्शन तुरंत बेनिफिशरी के खाते मैं क्रेडिट हो जाता है वहां NEFT द्वारा किया गया ट्रांसक्शन बैंक सेटलमेंट के टाइम टेबल से होता है 

NEFT TRANSACTION PROCESS STEP BY STEP

जैसा  की मैंने ऊपर बताया है NEFT को दो अलग तरीकों से किया जाता है, ऑनलाइन और दूसरा ऑफ लाइन तो चलिए इन दोनों तरीकों के बारे मैं और विस्तार से जानते है.

Online procedure NEFT के लिए :

तो चलिए सबसे पहले ऑनलाइन के माध्यम से NEFT किया है और ये कैसे काम करता है ? पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपको कौन कौन से Step  लेने चाहिए उनके बारे मैं जानते है 

Step 1 :- सबसे पहले आपके पास नेट बैंकिंग की सुविधा होना बहुत ही आवश्यक है, यदि आपके पास ये सुविधा नहीं है तो आप अपने बैंक शाखा मैं जाकर इस सेवा को चालू करवा सकते है, और वैसे अब तो बहुत सारी बैंक ऑनलाइन ही आपका नेट बैंकिंग की सेवा चालू कर देती है, तो आपका नेट बैंकिंग सेवा चालू होने के बाद आपको अपने नेट बैंकिंग अकाउंट मैं लॉगिन कर लेना है 

step 2 : दूसरे स्टेप मैं आपको मनी ट्रांसफर के सेक्शन मैं जाकर नया बेनिफिशरी यानी के जिसको आप पैसे भेजना चाहते हैं उसका अकाउंट add करना होता है जिसके लिए आपको Add New Payee या फिर Add New Benificiary का Tab(बटन) क्लिक करने पर आपके सामने एक form खुल जाता है जिसमे आपको benificiary के कुछ details भरनी होती है जो की निम्मन प्रकार से हैं

  • Beneficiary  Account Number 
  • Name of benificary
  • Bank Branch IFSC Code of Beneficiary
  • Account Number of Beneficiary

Step 3 : एक बार Payee यानि Benificiary Add हो जाने के बाद कुछ बैंक Payee को Active करने मैं कुछ घंटो का समय लगाती है और कई बैंक इंस्टैंटली Active कर देती है तो आपका Payee एक्टिव होने के बाद फंड ट्रांसफर मोड मैं NEFT SELECT करें

Step 4  : अब आपको अपने Payee List मैं से आपको जिसको पैसे ट्रांसफर करना है उसका चयन करना है और Amount डालना है जो की आप ट्रांसफर करना चाहते है उसके बाद ट्रांसफर mode NEFT को चुनना है और remark डालना है 

Step 5 : अब  आपको Submit Button पर क्लिक करके अपने transaction को पूरा करना है और ऐसे आपका ट्रांसक्शन कम्पलीट हो जाता है

 

Offline procedure NEFT के लिए :

Step 1 : ऑफ लाइन प्रोसीजर के लिए सबसे पहले आपको अपने होम ब्रांच मैं जाना है 

Step 2 : बैंक जाने के बाद वहां से NEFT/RTGS Form ले उसके बाद नीचे दिया गया डि-टेल बेनिफिशरी के खाने मैं दर्ज करें

  • खाता धारक का नाम (Benificiary Name)
  • खाता धारक का खाता नंबर (Benificiary Account Number)
  • खाता धारक के बैंक का नाम (Benificiary Bank Name)
  • खाता धारक के बैंक का IFSC कोड (Bank Branch IFSC Code)
  • खाता का प्रकार (Account Type)
  • राशि जो आप ट्रांसफर करना चाहते है 

  Step 3 : फॉर्म भरने के बाद आपको अपने खाते का एक चेक उसी Amount  का भर के बैंक को देना होगा जो आप ट्रांसफर करना चाहते है, जिससे बैंक आपके खाते से वो राशि डेबिट करके बेनिफिशरी के खाते मैं क्रेडिट कर सके अब आपके Behalf  मैं बैंक बेनिफिशरी के खाते मैं पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर कर देगी

NEFT SYSTEM काम कैसे करता है ?

यहाँ पर मैंने आपको NEFT ट्रांसफर के PROCESS के बारे मैं समझाने की कोशिश की है, लेकिन ये PROCEES की बारिकया अलग अलग बैंक थोड़ी अलग हो सकती है मगर प्रोसेस लगभग एक सामान ही होती है

जैसा की मैंने आपको बताया की कैसे आप Online और Offline के माध्यम से Form मैं Benificiary का पूरा डिटेल भरना होता है, Benificiary के बारे मैं पूरी जानकारी fill करना होता है उसके बाद बैंक उसको Authorize करने के बाद आगे process करता है

इसके बाद बैंक आपको एक Message भेजता है जिसमे आपके ट्रांसक्शन का एक uniqe नंबर दिया जाता है जिसे UTR नंबर कहते है, UTR का पूरा नाम (Unique Transaction Reference number) है 

उसके बाद बैंक उसे NEFT क्लीयरिंग सेंटर मैं भेज देता है जिसे National Clearing Cell द्वारा Oprate किया जाता है जो की Reserve Bank of India की देख रेख मै चलती है,

उसके बाद NEFT क्लीयरिंग सेंटर मैं प्राप्त हुई सारे ट्रांसक्शन को बैंक वाइज शोर्ट किया जाता है,फिर उसका एक बंच  बनाकर जिस बैंक में आपके पैसे जमा होने है उस बैंक के हेड ऑफ़िस के के NEFT क्लीयरिंग डिपार्टमेंट को भेजता है जहा पर बैंक उन सभी एंट्री को बेनिफिशरी के खाते मैं क्रेडिट कर देता है, और इस प्रकार आपका ट्रांसक्शन कम्पलीट हो जाता है

NEFT Transaction के टाइमिंग किया है

यदि हम current टाइम की बात करें तो NEFT क्लीयरिंग सेंटर Hourly Batches मैं काम करती है जिसका टाइम सोमवार से शनिवार तक सुबह 8  :00 AM से लेकर रात के 7 :00 PM तक का होता है जिसमे Public holiday और 2nd और 4th शनिवार को शामिल नहीं किया जाता है यानि के इन सभी दिन NEFT सेवा बंध रहती है और कोई भी NEFT ट्रांसक्शन नहीं होता है, यानि कुल मिलकर NEFT सर्विस बैंक वर्किंग दिन पर ही हो पाती है बाकी बैंक हॉलिडे पर ये सर्विस बंद रहती है

याद रखे अगर आप बैंक हॉलिडे या NEFTटाइमिंग के बाद कोई भी NEFT ट्रांसक्शन करते है तो वोह नेक्स्ट डे बैंक वर्किंग टाइम मैं ही सेटल किया जाता है,ऐसे तो ओरिजिनल NEFT सेटलमेंट टाइम पहले हर एक घंटे के बाद एक batches को सेटल किया जाता था जिसे RBI ने APRIL-2016  से BATCHES सेटेलमेंट टाइम को घटाकर आधा घंटा कर दिया यानि के अब हर आधे घंटे मैं एक BATCHE को सेटल किया जाता है

नोट : RBI ने  August -2019 मैं announce किया है की दिसंबर 2019 से NEFT सेटलमेंट round-the-clock किया जाएगा

NEFT Transfer के charges और fees

दोस्तों NEFT  रिसीवर बैंक कस्टमर को कोई भी Charge नहीं करती है, लेकिन हाँ Sender बैंक सेन्डर को NEFT ट्रांसक्शन के लिए Charge करती है, तो चलिए समझते है की कितने अमाउंट पर कितना चार्ज लेती है बैंक

Service Charges for NEFT Transactions 

Transaction Amount NEFT Charges
Amount Rs 10000  Rs. 2.50 + Applicable GST
Amount Rs.10000 से लेकर Rs 100000 तक  Rs 5 + Applicable GST
Amount Rs 100000 से 200000 तक Rs 15 + Applicable GST
Amount Rs.200000 से Rs 500000 तक Rs 25 + Applicable GST
Amount Rs 500000 से Rs 1000000 तक Rs 25 + Applicable GST

ध्यान दे : NEFT ट्रांसक्शन चार्जेज समय समय पर बदलती रहती है तो नेफ्ट ट्रांसक्शन करने से पहले अपने बैंक से चार्ज के बारे मैं जान लें

  नोट : RBI ने 11 June-2019  को एक Announcement किया है जिसमे बैंकों से कहा गया है की 1 July-2019 से NEFT और RTGS से होने वाले किसी भी ट्रांसक्शन पर कोई भी चार्ज न लिया जाए

NEFT के द्वारा कौन Fund Transfer कर सकता है?

NEFT Service का उपयोग कोई भी फर्म हो , कोई भी कॉरपोरेशन हो, या फिर Individual सभी  एक बैंक अकाउंट से किसी दूसरे बैंक अकाउंट मैं फंड ट्रांसफर करने के लिए कर सकते है, लेकिन हाँ नेफ्ट ट्रांसक्शन के लिए उनका उस ब्रांच बैंक मैं अकाउंट होना चाहिए और उस बैंक मैं नेफ्ट सर्विस चालू होनी चाहिए

और अगर आपके पास बैंक अकाउंट नहीं है तो भी आप इस सेवा का लाभ ले सकते है बस आपको किसी भी बैंक के ब्रांच मैं जाना है और वहां पर NEFT Instruction Slip को भरना है और बैंक मैं स्लिप के साथ पैसे जमा करना है, और इस प्रकार आप फंड ट्रांसफर कर सकते है, लेकिन यहाँ पर बिना अकाउंट के आप केवल Rs 50000 तक का ही ट्रांसक्शन कर सकते है 

NEFT द्वारा कौन Fund Receive कर सकता है?

NEFT के द्वारा कोई भी वो व्यक्ति,फर्म या कॉर्पोरेट पेमेंट रिसीव कर सकता है जिसका किसी भी NEFT Enabled बैंक मैं अकाउंट है,

 

NEFT के किया फायदे है ?

  • NEFT के माध्यम से कोई भी व्यक्ति,फर्म या फिर कोई भी (corporate) कॉर्पोरेट बड़े ही आसानी से और सुरक्षित तरीके से एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट मैं पैसे भेज सकते है वो भी बिना ब्रांच गए
  • यहाँ पर रिसीवर यानि Benificiary को अपने बैंक ब्रांच के धक्के नहीं खाने पड़ते नाही कोई पेपर वर्क करना पड़ता है, और बड़े ही आसानी से और सुरक्षित तरीके से अपने बैंक अकाउंट मैं राशि प्राप्त कर लेता है
  • तीसरा सबसे बड़ा बेनिफिट ये है की इस प्रोसेस मैं यानि के NEFT ट्रांसक्शन मैं चार्ज बहुत ही कम लगता है
  • अगर आपके पास इंटरनेट बैंकिंग फैसिलिटी है तो आप कभी भी कहिसे भी ऑनलाइन ट्रांसक्शन कर सकते है वो भी ब्रांच के धक्का खाये बिना, दूसरा ये ट्रांसक्शन बहुत ही सुरक्षित होता है, 
  • इस ट्रांसक्शन मैं रिसीवर यानि Benificiary को कोई भी चार्ज नहीं पे करना पड़ता है
  • NEFT द्वारा होने वाले सभी ट्रांसक्शन को बैंक वर्किंग डे मैं हर आधे घंटे पर सेटल किया जाता है 

NEFT के FAQs

 

  • NEFT किया है?



NEFT एक ऑनलाइन होने वाला प्रोसेस है, जिस से एक बैंक अकाउंट से किसी दूसरे बैंक अकाउंट मैं फंड ट्रांसफर करने के लिए उपयोग किया जाता है, और इसे RBI द्वारा संचालित किया जाता है, इसका पूरा नाम National Electronic Fund Transafer है जिसे हिंदी मैं “राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण ” भी  कहा जाता है

 

  1. किया सभी बैंक मैं NEFT की सुविधा उपलब्ध  होती है?

    जी नहीं ये NEFT की सुविधा सभी बैंक मैं उपलब्ध नहीं है

  2. किया IFSC कोड होना सभी NEFT ट्रांसक्शन के लिए अनिवार्य है?

    जी हाँ सभी NEFT ट्रांसक्शन के लिए IFSC कोड का होना अनिवार्य है, बिना IFSC कोड के कोई भी NEFT ट्रांसक्शन कम्पलीट नहीं हो सकता है

  3. NEFT ट्रांसक्शन के सेटेलमेंट मैं कितना समय लगता है?

    सभी NEFT ट्रांसक्शन को Batch-Wise सेटेल किया जाता है, जिसमे हर आधे घंटे मैं एक Batch को Process किया जाता है, वर्किंग डे मैं किया गया ट्रांसक्शन same day सेटेल हो जाता है जबकि बैंक हॉलिडे के दिन होने वाले ट्रांसक्शन को next working day मैं सेटल   किया जाता है

  4. ये कैसे जाने की बैंक मैं NEFT की सुविधा उपलब्ध है या नहीं?

    आपका बैंक NEFT इनेबल्ड है या नहीं ये आप Reserve Bank of India (RBI ) की Website पर जा कर पता कर सकते हैं या फिर अपने ब्रांच से संपर्क कर सकते हैं

निष्कर्ष

दोस्तों मैं आशा करता हूँ की मैंने NEFT किया है? के बारे मैं जो भी जानकारी दी है वो आप सभी को पसंद आया होगा,और इस जानकरी से आपको कुछ सीखने  को जानने को मिला होगा, तो मैं आप सभी दोस्तों से एक अनुरोध करना चाहता हु की अगर आप को ये जानकारी पसंद आयी हो तो इसे एक बार अपने फ़्रेड सर्किल मैं ,अपने सोशल मीडिया पर Share ज़रुर करें ताकि और लोगों तक ये जानकारी पहुंचे और वो लोग भी इसका फायदा उठा सकें,मुझे आप लोगों के सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पंहुचा सकूँ.

मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की मैं अपने Reders का हर तरह से Help कर सकूँ, और नयी जानकारी उन तक पहुंचा सकूँ, और हाँ दोस्तों अगर इस जानकारी मैं कही भी कोई भी आपको संका (Doubts) हो या फिर कोई गलती हो तो आप comment box मैं comment कर के पूछ सकते है या हमे suggest कर सकते हैं हमें आपके Suggestion का और आपके comments के रूप मैं प्यार का इन्तेजार रहेगा ,और आपको ये पोस्ट कैसा लगा वो भी हमें comment करके ज़रुर बताएं ताकि अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो उसे सुधारने का मौका मिले 

कृपया ध्यान दें : 

आप अपने Credit Card /Debit Card का Pin, cvv, OTP, अपने Net-Banking का ID और Password  किसी को न बताएं वो चाहे अपने आपको बैंक का कर्मचारी बताये, क्योंकि कोई भी बैंक या उसका Employee आपसे आपकी Personal  जानकारी नहीं माँगेगा,

 

“सावधान रहें सतर्क रहें, क्योंकि सावधानी हटी दुर्घटना घटी “ 




मेरा नाम Amin Ansari है, मुझे लोगों तक नयी जानकारी पहुँचाना अच्छा लगता है, मैं यहाँ अपने पाठकों के लिए नयी और बेहतर जानकारी लिखता हूँ

आपको ये भी पढना चाहिए

टिप्पणियाँ (0)

एक नई टिप्पणी जोड़ें